DESH KI AAWAJ

बेरोजगार वंचित विद्यार्थी मित्रो ने मुख्यमंत्री के नाम सौपा ज्ञापन

बेरोजगार वंचित विद्यार्थी मित्रो ने मुख्यमंत्री के नाम सौपा ज्ञापन

150 से अधिक वंचित विद्यार्थी मित्र कर चुके हैं आत्महत्या

सुखराम मीणा/दिव्यांग जगत
उदयपुर- उदयपुर जिले के सलूंबर,ऋषभदेव व खेरवाड़ा उपखंड क्षेत्र के बेरोजगार विद्यार्थी मित्रो के प्रतिनिधि मंडल द्वारा अनुसूचित जाति वित्त निगम के चेयरमैंन व राज्य मंत्री श्री शंकरलाल यादव को उनके निवास स्थान बिलडी गाँव डूंगरपुर मे मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन दिया गया।
बेरोजगार वंचित विद्यार्थी मित्रो की मुख्य मांग हैं की वर्तमान मे राजस्थान सरकार द्वारा संविदा सेवा नियम- 2022 मे पंचायत सहायक भर्ती 2017 से वंचित रहे विद्यार्थी मित्रो को भी सम्मिलित किया जाया।
ये वे विद्यार्थी मित्र है जो बहुत हि कम अल्प मानदेय पर 2008 से 30 अप्रेल 2014 तक राजकीय विद्यालयों मे अपनी सेवा दे चुके है। ओर इनके पास 5 व 6 वर्ष तक का राजकीय सेवाकाल का अनुभव है।


2017 मे राज्य सरकार द्वारा पंचायत सहायक भर्ती मे भाई भतीजावाद् के कारण 5 से 6 हजार विद्यार्थी मित्रो की जगह अन्य अनुभवहीन चहेतो भर्ती मे चयन कर लिया गया था, जिसके कारण विद्यार्थी मित्र वँचित व बेरोजगार हो गये, उनमे से अब तक अवसाद व बेरोजगारी के चलते लगभग 150 से विद्यार्थी मित्रो की अकाल मृत्यु हो चुकी हैं राज्य सरकार की हठधर्मिता के कारण।
अत: राज्य सरकार से अनुरोध है की वर्तमान सेवा नियम 2022 मे इन वँचित बेरोजगार विद्यार्थी मित्रो को सम्मिलित करके इन्हे रोजगार से जोड़कर भूखे मरते परिवार को नया जीवन दान दिया जाए। साथ ही प्रदेश अध्यक्षा यशवंत आमेटा ने बताया की समय रहते हमारी मांग पूरी नही की गयी तो जयपुर मे राष्ट्रव्यापी आंदोलन वंचित विद्यार्थी मित्रों द्वारा किया जायेगा।
ज्ञापन देने वालो मे प्रदेश महासचिव हंसमुख जैन,सलूंबर ब्लॉक अध्यक्ष सुनील त्रिवेदी,बाबुलाल मेघवाल, ज्ञानेश्वर भंडारी,राजेंद्र,प्रकाश मीणा सहित अन्य वंचित विधार्थी मित्र सदस्य उपस्थित रहे।

admin
Author: admin